Friday, 25 February 2011

बच्चों के लिए उपयोगी वेबसाइट्स


दोस्तो । इंटरनेट सर्फिग करना तुम्हारे लिए कोई नई बात नहीं है । तुम सभी अपनी जरूरत के अनुसार इंटरनेट का इस्तेमाल करते हो । कभी तुम इसका इस्तेमाल सोशल नेटवर्किग साइट के जरिए अपने दोस्तों से गपशप के लिए करते हो । तो कभी कोई जानकारी पाने के लिए कम्प्यूटर के करीब जाते हो । इंटरनेट की दुनिया बहुत बड़ी है । इस समंदर में हमने तुम्हारे लिए गोते लगाए । जब हम बाहर निकले । तो पाया कि यहां तो तुम बच्चों के लिए ऐसा बहुत कुछ है । जो तुम्हारे बहुत काम का है । जी हां हम तुम्हारे लिए लेकर आए हैं । कुछ टॉप वेबसाइट्स । जिन्हें तुम फेवरेट में हमेशा के लिए एड कर लोगे । इन्हीं वेबसाइट्स की एक झलक दिखा रहे हैं ।

1 चकल डॉट कॉम । www.chuckle.com
चकल डॉट कॉम वेबसाइट पर तुम अपनी पसंद का डिजाइन या फिर चित्रकारी कर सकते हो । साथ ही इसको सेव किया जा सकता है । जिसे बाद में वेबसाइट पर देखा जा सकता है । इसके अंदर क्रियेटिव कॉर्नर का एक टैग है । जिसे क्लिक करने से तुम यह सब कुछ कर सकते हो । तुम इस वेबसाइट से अपना टाइम टेबल डाउनलोड कर सकते हो । साथ ही इस पर वॉलपेपर डाउनलोड करने की सुविधा भी है ।
इस पर मौजूद अध्ययन सामग्री तुम्हारी पढ़ाई में मदद कर सकती है । साथ ही इसके अंदर डिक्शनरी की सुविधा है । यदि तुम्हें अपने किसी दोस्त के लिये कोई ग्रीटिंग चाहिए । तो यह सुविधा इस पर मौजूद है । दिलचस्प बात यह है कि इस पर तुम अपने पसंदीदा गेम्स खेल सकते हो । मतलब पढ़ाई के साथ साथ इस पर ऐसा बहुत कुछ है । जो तुम्हें कई तरह से मदद कर सकता है । इसमें मौजूद फॉर्म में तुम अपनी बात कह सकते हो ।
2 जानकारी का खजाना है यहां । www.kidswebindia.com
वेबसाइट के होमपेज पर ही तुम्हें आने वाले त्योहार और छुट्टियों के बारे में जानकारी मिल जाएगी । होमपेज पर ऊपर ही लिटिल प्रिंस और लिटिल प्रिंसेज 6-11 साल तक के बच्चों के लिए है । जिसमें तुम भी जा सकते हो । इसके अलावा तुम्हारे और तुम्हारे बड़े भाई-बहनों के लिए लिटिल किंग और लिटिल क्वीन टैब हैं । जो 18 साल तक के युवाओं के लिए हैं । बाईं ओर के पैनल में नर्सरी की कविताएं । त्योहार । चुटकुले । खेल । डेंटल केयर । एनिमल किंगडम । जरनल नॉलेज जैसे लिंक हैं । जिनसे तुम्हें खूब सारी कविताएं । जोक्स । गेम्स आदि के अलावा जनरल नॉलेज व दांतों को सुरक्षित रखने के टिप्स मिलते हैं । इनके अलावा इस पैनल में कई लिंक दिए गए हैं । तुम्हारे लिए दाईं ओर फॉर टीन नाम से एक अलग ही पैनल दिया गया है । इसमें कॉम्पटीशन टिप्स । ब्यूटी टिप्स । फूड ग्रुप । फन फ्रैंच रेसिपीज के अलावा वजन कम करने । एग्जाम की तैयारी और ऑनलाइन भाषाएं सीखने के लिए लिंक दिए गए हैं ।
3 जानो इंगलिश । www.agendaweb.org
तुम्हें इंगलिश सिखाने के लिए ले लाए हैं । एक खास वेबसाइट । दोस्तो इस वेबसाइट का सिर्फ नाम ही एजेंडा वेब नहीं है । बल्कि इसका एजेंडा ही तुम्हें अंग्रेजी सिखाना है । वेबसाइट पर जाओगे । तो अंग्रेजी सीखने के लिए बहुत कुछ है । इसके होमपेज पर ग्रामर । वुकेबुलेरी । वर्ब्स । लिसनिंग । सॉन्ग्स । रीडिंग आदि के लिंक दिए गए हैं । इन लिंक्स के नीचे ही इनसे जुड़ी शब्दावली और नियमों के भी लिंक दिए गए हैं । जैसे ग्रामर में कंजंक्शन । प्लूरल । प्रिपोजिशन और वुकेबुलेरी में एनिमल्स । बॉडी । क्लोद्स आदि के नाम व इसी तरह से वर्ब्स व अन्य लिंक में भी उनसे जुड़े लिंक दिए गए हैं ।
किसी भी लिंक पर क्लिक करके तुम अपना लेवल चुनकर जैसे एलिमेंटरी । लोअर इंटरमीडिएट । इंटरमीडिएट । अपर इंटरमीडिएट । एडवांस्ड आदि में से एक्सरसाइज कर सकते हो । तो दोस्तो चलो । सीखते हैं इंग्लिश ।
4 एस्ट्रोनॉमी एंड स्पेस की गाइड । www.bestedsites.com
तुम्हारे लिए बेस्ट एजुकेशनल साइट्स की जानकारी । इस वेबसाइट एस्ट्रोनॉमी एंड स्पेस साइट्स के लिंक में तुम ब्रहांड व स्पेस साइंस की बेहतरीन साइट्स से अपने ज्ञान भंडार को और बढ़ा सकते हो । इंजीनियरिंग का लिंक तुम्हें इसकी सर्वोत्तम वेबसाइट पर पहुंचा देगा । लैंग्वेज आर्ट्स साइट्स में तुम अपने भाषा ज्ञान में बढ़ोत्तरी कर पाओगे । मैथ्स साइट्स तुम्हें मैथ्स की उलझनों से निकालने में मददगार साबित होंगी । म्यूजियम ऑफ द वर्ड । न्यूज साइट्स फॉर द किड्स । रेफरेंस लिंक । साइंस साइट्स । सर्च इंजन्स । सोशल स्टडीज साइट्स । टीचर रिसोर्सेज के लिंक भी इनकी सबसे अच्छी वेबसाइट्स तक तुम्हें पहुंचा देंगे ।
5 जब कम्प्यूटर बन जाए टीचर । www.indianchildren.com
इतिहास की गलियों में कहीं भटक जाओ । या विज्ञान में हो कुछ और । ज्ञान की जरूरत । या फिर गणित के अंकों में कहीं जाओ उलझ । तो इस वेबसाइट पर तुम्हारी परेशानी का हल मिल जाएगा । भूगोल में हो परेशानी । या अंग्रेजी की हो दिक्कत । और जानना हो कुछ कंप्यूटर या हैल्थ आदि के बारे में तो यह वेबसाइट तुम्हारी हर मदद करेगी । वेबसाइट पर जाते ही तुम्हें दाईं ओर के पैनल में पूरा मेन्यू मिलेगा । जिसमें तुम अपने विषय को चुनकर अपनी उलझन को सुलझा सकते हो । बाईं ओर इसी तरह से तस्वीरों के साथ विषय के लिंक दिए गए हैं ।

6 ग्राउंड एक खेल अनेक । http://www.indianchild.in/Sports
यहां पर तुम्हारी पसंद के लगभग हर खेल के बारे में खूब सारी जानकारी समेटी गई है । सिर्फ ऊपर बताए गए खेल ही नहीं । बल्कि कुश्ती । बैडमिंटन । बिलयर्डस । बॉक्सिंग । बंजी जंपिंग । चेस । ड्राइविंग । जिम्नास्टिक्स । खो-खो । कुंफू । ओलंपिक खेल । कॉमनवैल्थ खेल । भारत में खेले जाने वाले विभिन्न खेल । स्विमिंग । टेबल टेनिस और वेटलिफ्टिंग आदि के बारे में भी यहां पर हर तरह की जानकारी को समेटा गया है । यहां से पढ़कर तुम अपने खेल के बारे में वो सब जान सकते हो । जो आज तक जानना तो चाहते थे । लेकिन कोई बताने वाला नहीं था । सिर्फ यही नहीं । इस वेबसाइट पर तुम्हें अपनी पसंद के अलग-अलग खेलों के विश्व रिकॉर्ड और अन्य रोचक जानकारियां भी मिलेंगी ।

7 हिन्दी अब न रहेगी कमजोरी । www.hindikibindi.com

ये वेबसाइट तुम्हें न सिर्फ हिन्दी और हिन्दी व्याकरण सिखाएगी । बल्कि कई किस्से । कहानियां । कविताएं । पारिवारिक बातें बताने के अलावा मनोरंजन भी कराएगी । तो दोस्तो तुम्हारी इस हिन्दी टीचर का नाम है । www.hindikibindi.com इसके होमपेज पर तुम्हें शारदा मां की स्तुति मिलेगी । मां शारदा का स्तुति गान करने के बाद तुम्हें वेबपेज के ऊपरी हिस्से में कई टैब दिखेंगे । जैसे विद्यार्थी । पारिवारिक । मनोरंजन व पाठ्य सामग्री आदि । इसी तरह से वेबसाइट के बाईं ओर मुख्यपृष्ठ । परिचय । नामांकन । प्रवेशद्वार । प्रश्नोत्तर आदि लिंक दिखेंगे । विद्यार्थी टैब में तुम्हारे लिए नन्हे मुन्ने । नटखट । युवा वर्ग । कहानियां व कविताएं जैसे वर्ग हैं । जिनमें से तुम अपनी मनपसंद के वर्ग में जा सकते हो । इन्हीं में तुम्हें हिन्दी व्याकरण की बारीकियां भी सीखने को मिलेंगी । मनोरंजन के टैब में मुस्कुराइए  वर्ग में चुटकुले । चलचित्र वर्ग में ज्ञानवर्धक वीडियो । समाचार में तुम दुनिया भर के हिन्दी से जुड़े समाचार पढ़ सकते हो ।


8 प्रश्न भेजो उत्तर ईमेल से मिलेंगे । www.allthetests.com
ऑल द टेस्ट्स डॉट कॉम । इस वेबसाइट में तुम्हारे लिए राइट पैनल में खास एक टैब नॉलेज टेस्ट और एक चिल्ड्रन । किड्स क्विज के नाम से है । नॉलेज टेस्ट टैब में एनिमल । प्लान्ट्स । बायोलॉजी । बुक्स । आर्ट । कल्चर । कार । मोटरबाइक । कॉमन नॉलेज । कंप्यूटर । इंटरनेट । इकोनॉमिक्स । ज्योग्राफी । हिस्ट्री । लैंग्वेज । रिलीजन । फिजिक्स । कैमिस्ट्री । मैथमैटिक्स आदि लिंक दिए हुए हैं । जिनमें से तुम अपनी मनपसंद विषय के 10-15 प्रश्नों के उत्तर जल्द से जल्द दे सकते हो । उत्तर देने के बाद टेस्ट का रिजल्ट भी तुरंत देख सकते हो । और चाहो तो अपना ईमेल पता दे सकते हो । तुम्हारे टेस्ट का रिजल्ट तुम्हें ईमेल कर दिया जाएगा ।


9 वन्य जीवों को जानो करीब से । www.wildlywise.com

दोस्तो । यहां बात हो रही है । वाइल्ड लाइफ ऑफ इंडिया की । और वेबसाइट का नाम है । www.wildlywise.com होम पेज पर ही तुम्हें शेर । चिंकारा । हाथी । बंदर । बतख आदि की तस्वीरें दिखाई देंगी । साइट में बाईं तरफ कई सारे लिंक दिए गए हैं । फोकस ऑन में जंगल के ही किसी भी एक जानवर या अन्य विषय पर विस्तृत जानकारी है । रिजॉर्ट्स लिंक में देश भर के विभिन्न अभयारण्यों में स्थित रिजॉर्ट के बारे में जानकारी दी गई है । एडवेंचर स्पोर्ट्स के लिंक में विभिन्न जंगलों और देश भर के अलग-अलग हिस्सों में एडवेंचर्स स्पोर्ट्स के बारे में जानकारी समेटी गई है । फिर चाहे वह राफ्टिंग हो । या कैंपिंग । जंगल सफारी । ट्रैकिंग । फिशिंग आदि सभी के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है । फोटोग्राफी के लिंक में कुछ बेहतरीन फोटोग्राफ्स को समेटा गया है । इसके अलावा साइट पर कई तरह के कॉन्टेस्ट भी चलते रहते हैं । जिनमें भाग लेकर तुम कई इनाम भी जीत सकते हो ।
10 तुम्हारी सेहत । www.foodsafetyindia.nic.in
इस वेबसाइट में सबसे पहले सब्जियों और फलों के बारे में बताया गया है कि तुम्हें उन्हें कैसे और कब खाना चाहिए । यहां तुम्हें यह भी बताया गया है कि फलां सब्जी या फल से तुम्हें क्या फायदा होगा । कई सब्जियों व फलों में प्रति 100 ग्राम में तुम्हें क्या-क्या पोषण मिलता है । यहां विस्तार से हर चीज की जानकारी दी गई है । इस वेबसाइट में फलों व सब्जियों में आमतौर पर पाये जाने वाले बैक्टीरिया । वायरस । वर्म और पैरासाइट्स के बारे में भी बताया गया है ।
इसमें सिर्फ फल व सब्जियां ही नहीं । अन्य भोजन । खाने से जुड़ी हुई विभिन्न आदतों । अलग-अलग तरह के असर और बैक्टीरिया व वायरस आदि के बारे में भी अच्छे से विस्तारपूर्वक बताया गया है ।
11 रहेगा फिट दिमाग । www.fitbrains.com

एक ऐसी वेबसाइट । जो तुम्हें अपनी दिमागी सेहत के लिए सचेत करती है । यह एक विदेशी वेबसाइट है । पर तुम्हें इसका इस्तेमाल करने के लिए लॉग-इन बनाने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है ।
बिना लॉग-इन के ही यह तुम्हारे दिमागी स्वास्थ्य के बारे में तुम्हें बहुत कुछ बता देती है । और उसे स्वस्थ रखने का भी तरीका बताती है । ब्रेन गेम के टैब में तुम्हारे लिए कई तरह के ब्रेन गेम । जैसे लैंग्वेज ब्रेन गेम । विजुअल स्पेशल ब्रेन गेम । एक्जिक्यूटिव ब्रेन गेम । मेमोरी ब्रेन गेम और कॉन्सन्ट्रेशन ब्रेन गेम आदि हैं ।

12 संगीत की एबीसीडी । www.sfskids.com

इसका इंट्रो पेज दिखेगा । जो शानदार म्यूजिक के साथ खुलता है । साइट में ऊपर ही होम । साइट मैप । हैल्प और रेडियो जैसे लिंक आइकन और लिखे हुए हैं । जिन पर क्लिक करके तुम अपनी मनपसंद जगह पर पहुंच सकते हो ।
वेबसाइट के बीच के हिस्से में मीट द नोट्स । गो टू बेसिक लिंक दिया गया है । यहां पर तुम संगीत की एबीसीडी सीखोगे ।
मेक ए टय़ून विद कंपोजर एक और लिंक है । जहां पर तुम कंपोजर की मदद से कोई टय़ून बना सकते हो । होमपेज पर ही । सेंड ए पोस्टकार्ड । का लिंक भी दिया गया है । जिस पर क्लिक करके तुम अपने दोस्तों को पोस्टकार्ड ईमेल करके इस वेबसाइट के बारे में बता सकते हो ।
द म्यूजिक लैब में बेसिक्स । टैम्पो । पिच । हारमनी । सिंबल्स पर फार्मलेटर के बारे में बहुत अच्छी जानकारी दी गई है ।
साभार " कम्प्यूटर दुनियाँ " ब्लाग से । इस बेहतरीन जानकारी के लिये मयंक जी आपका बहुत बहुत आभार । पूरा लेख यहाँ देखें

BLOG लोगो के HTML कोड को बॉक्स में लगाना ।


इत्तफ़ाकन ही आज पहली बार " श्री मयंक भारद्वाज जी " का ब्लाग " कम्प्यूटर दुनियाँ " देखा । कम्प्यूटर । इंटरनेट और ब्लागिंग की तमाम जानकारी देने वाला ये एक अच्छा ब्लाग है । मयंक जी से अनुमति लेकर उनका एक लेख यहाँ प्रकाशित कर रहा हूँ ।
** आपने मेरी पिछली पोस्ट में ब्लॉग के लोगो के बारे में देखा था । बहुत से ब्लागर साथियों ने अपने ब्लॉग का HTML कोड बना लिया होगा । और अपने ब्लॉग पर लगा भी दिया होगा । लेकिन कुछ ब्लोगर साथियों को इस बारे में नहीं पता होगा कि HTML कोड को फोटो के साथ केसे लगाये । जैसे मैंने साइड बार में लगाया हुआ है ।
मैं आपकी इसी परेशानी को दूर करने के लिए एक ऐसा बॉक्स दे रहा हूँ । जिसमें आप कोई सा भी HTML कोड लिख सकते हैं । बिना किसी परेशानी के । मैं नीचे HTML कोड दे रहा हूँ । उसे आप कॉपी कर लें । और जो बीच में " अपना HTML कोड यहाँ लिखें " लिखा हुआ है । वहाँ अपना कोई सा भी HTML कोड लिख दें । कोड लिखने के बाद आपका HTML कोड बॉक्स में दिखेगा । जैसे नीचे दिख रहा है । आपने जो अपने ब्लॉग के लोगो का HTML कोड बनाया है । उसे इस बॉक्स में लिखकर अपने ब्लॉग के साइड बार में लगा दें । जैसे मैंने लगाया है ।

<form name="sdsf"><br /> <textarea cols="25" name="coda" readonly="" rows="05" wrap="physical">अपना HTML कोड यहाँ लिखें |</textarea><br /> <input onclick="javascript:this.form.coda.focus();this.form.coda.select();" type="button" value="सेलेक्ट करें" /></form>


और अगर आप कोई बॉक्स नहीं लगाना चाहते । तो आप ऑनलाइन भी अपने HTML कोड को अनेबल कर सकते हो । और अपने ब्लॉग के साईड बार में लगा सकते हो । ये है वो साइड
साभार " कम्प्यूटर दुनियाँ " ब्लाग से । इस बेहतरीन जानकारी के लिये मयंक जी आपका बहुत बहुत आभार । पूरा लेख यहाँ देखें

Thursday, 24 February 2011

नये ब्लागर्स के लिये उपयोगी सुझाव ।

एक अनुमान के मुताबिक इस समय औसतन 20 के लगभग नये ब्लाग प्रतिदिन हिन्दी ब्लाग जगत में नियमित रुप से शामिल हो रहे हैं । इनमें कई ब्लाग-लेखक बेहतरीन शैली में अपनी सोच को अपने लेखन के द्वारा अभिव्यक्त करने में पूर्ण सक्षम भी दिखते हैं । लेकिन अधिकांशतः इन नये ब्लाग्स की जानकारियां आगे नहीं आ पाने के कारण दो-चार पोस्ट के बाद ये गुमनामी के अंधकार में खो भी जाते हैं । ऐसा शायद इसलिये होता हो कि या तो ये ब्लागर्स ब्लाग बनाने और पोस्ट लिख लेने के बाद यह सोचकर बैठ जाते हैं कि पाठक स्वमेव आते रहेंगे । और हमारे लिखे को पढकर सराहना करते रहेंगे । या फिर वे समझ ही नहीं पाते हैं कि इसके आगे क्या कैसे किया जाना चाहिये ? यदि आप भी इस ब्लाग-जगत में नये हैं । तो अपनी असमंजस की इस स्थिति को इस आलेख अब इसके बाद क्या ?..और कैसे ? पर क्लिक करके समझने का प्रयास कर सकते हैं । मेरी समझ में नये की परिभाषा में वे ब्लाग्स तो आते ही हैं । जो अभी महीने । बीस दिन । या दो-चार दिन पहले ही बने हैं । किन्तु वे ब्लाग्स भी आते हैं । जो भले ही वर्ष भर से चल रहे हों । किन्तु अभी तक उन पर पाठक हिट्स संख्या 1 000 तक । या उनके फालोअर्स की संख्या 12-15 तक भी नहीं पहुँच सकी हो । यदि आप अपने ब्लाग के साथ इन दोनों में से किसी भी स्थिति में यहाँ हैं । तो आगे की यात्रा को सहजतापूर्वक जारी रखने के लिये इन सुझावों पर अमल करके देखिये ।

1 अपने ब्लाग को विभिन्न एग्रीगेटर्स में शामिल करवाएं ।
एग्रीगेटर ही वो माध्यम हैं । जहाँ हर ब्लाग लेखक अपनी ब्लाग-पोस्ट की प्रोग्रेस देखते रहने के साथ ही दूसरों के ब्लाग्स में इस समय नया क्या पढने के लिये उपलब्ध है । ये जानने के लिये प्रायः बारबार आते रहते हैं । यदि वहाँ आपका ब्लाग भी दर्ज रहेगा । तो न सिर्फ वो स्वमेव ही अन्य पाठकों की जानकारी में आता रहेगा । बल्कि वहाँ आपको भी विभिन्न विषयों यथा राजनीतिक । सामाजिक । भौगोलिक । विज्ञान । स्वास्थ्य । हास्य व्यंग्य और अन्य अनेकानेक विधाओं पर उपलब्ध आलेख । कविताएं । कहानियां ऐसे सभी तरह के ब्लागपोस्टों के बारे में ताजातरीन जानकारियां मिलती रहेंगी । व लोकप्रिय ब्लाग्स लोकप्रिय क्यों हैं ? इन कारणों को भी आप वहाँ नोट करते हुए व उनका अनुसरण करते हुए अपने ब्लाग को भी लोकप्रियता की दौड में आगे बनाये रखने का प्रयास आसानी से कर सकेंगे । ब्लागलेखन की इस दुनिया में हजारों हजार लोग अपने इस जुडाव के साथ क्या-क्या लाभ देखते हैं ? इसका रोचक वर्णन आप इस पूर्व पोस्ट ब्लागिंग तेरे लाभ अनेक...। को माउस क्लिक करके पढकर समझ सकते हैं । मैं यहाँ कुछ लोकप्रिय हिन्दी ब्लाग एग्रीगेटर्स की लिंक प्रस्तुत कर रहा हूँ । आप सिर्फ माउस क्लिकिंग के द्वारा यहाँ तक आसानी से पहुँच सकते हैं । और अपने ब्लाग को यहाँ पंजीकृत । रजिस्टर्ड । करवा सकते हैं । इनमें प्रमुख हैं । हमारीवाणी ।  अपना ब्लाग । ब्लागप्रहरी । ब्लाग परिवार । ब्लागकूट । हिंदी इंडली इत्यादि ।  इसके अलावा यदि आपके लिये संभव हो सके । तो अपने ब्लाग को गूगल व इस जैसे सर्च इंजन में भी अवश्य दर्ज करवाएँ ।
2 अपनी रुचि के ब्लाग को फालो अवश्य करें ।
जब आप किसी ब्लाग को फालो करते हैं । तो आपको उससे दो तात्कालिक लाभ मिलते हैं । 1 जिस ब्लाग को आपने फालो किया है । संभवतः वह ब्लागलेखक भी सौजन्यता व शिष्टाचार के नाते आपके ब्लाग को फालो कर लें । ( यद्यपि ऐसा हमेशा नहीं होता ) और 2 जिस भी ब्लाग को आपने फालो किया है । उस पर कोई भी नई पोस्ट प्रसारित होते ही आपको अपने डेशबोर्ड पर तत्काल उसकी जानकारी मिल जाती है कि मेरे पसंदीदा ब्लाग में इस समय नया क्या छपा है ?  यह याद रखें कि इस क्षेत्र में आगे आने के लिये आप अपनी पसन्द के ब्लाग्स को फालो करने में पीछे न रहें । क्योंकि न सिर्फ इसमें आपका कोई खर्चा नहीं होता । बल्कि आपका फोटो निरन्तर उस लोकप्रिय ब्लाग पर दिखते रहने के कारण अन्य अनेक हिन्दीभाषी ब्लाग लेखक व पाठक आपको भी आसानी से पहचानने लगते हैं । जिसका लाभ आपको आगे तक मिलता रहता है । एक और महत्वपूर्ण बात । जब भी आप किसी ब्लाग को फालो करें । तो सिर्फ फालो करके ही न आ जावें । बल्कि अनिवार्य रुप से एक टिप्पणी ( चाहे वह राम राम ही क्यों न हो ) अवश्य लिखकर आवें । क्योंकि सिर्फ फालोअर्स लिस्ट के फोटो से वह ब्लागलेखक यदि चाहें । तो भी आपके ब्लाग तक नहीं पहुँच पावेंगे । लेकिन फालोअर्स लिस्ट के साथ ही आपकी टिप्पणी के आधार पर वो तत्काल आपके ब्लाग पर पहुँच जावेंगे । और यदि वे चाहेंगे । तो आपके  ब्लाग को आसानी से फालो भी कर लेंगे ।
3  अधिक से अधिक ब्लाग लेखों पर अपनी टिप्पणियां दें ।
ब्लाग-जगत में सफलता का बहुत-बडा मापदंड ये देखने में आता है कि आपके ब्लाग पोस्ट पर कितनी टिप्पणियां आ रही हैं । और यही कारण है कि अक्सर लोग अपने ब्लाग पर टिप्पणी देने वाले ब्लागलेखक को उसके ब्लाग पर भी टिप्पणी देते रहने की आवश्यक औपचारिकता की पूर्ति करते दिखाई देते हैं । लोकप्रियता की इस दौड में टिप्पणियों के महत्व को समझने के लिये आप टिप्पणियों की अनिवार्यता और माडरेशन का नकाब ? लेख पर माउस क्लिक करके एक नजर अवश्य डालें । अब यदि आप अधिक से अधिक ब्लाग-पोस्ट पर टिप्पणी देने जाते हैं । तो स्वाभाविक रुप से आपके ब्लाग पर भी टिप्पणियों का क्रम धीरे धीरे बढना चालू हो जाता है । और आप व आपका ब्लाग इस माध्यम से ब्लागजगत में परिचित होते हुए अपना स्थान सुरक्षित रखने में कामयाब होते चले जाते हैं । इसलिये अधिक से अधिक ब्लाग्स पर आप न सिर्फ अपनी टिप्पणी दें । बल्कि प्रारम्भ में उस टिप्पणी के साथ अपने ब्लाग की URL Link देते हुए सम्बन्धित ब्लागर्स को अपने ब्लाग पर टिप्पणी देने के लिये आमंत्रित भी करते रहैं ।
4 रोचक व पठनीय शैली में अपनी पोस्ट प्रकाशित करें ।
अपने मनपसन्द विषय पर मौलिक शैली में एक नियमित अंतराल पर अपने ब्लाग पर पोस्ट के प्रकाशन का सिलसिला बनाये रखें । जितनी सुनियोजित आपके ब्लाग पर पोस्ट की निरन्तरता बनी रहेगी । उतना ही व्यवस्थित तरीके से आपके पाठकों का आपके ब्लाग से जुडाव बना रह सकेगा । अपनी ब्लाग पोस्ट लिखने के लिये उपयोगी सुझाव समझने हेतु । तरीका  ब्लाग लिखने का । नामक इस पोस्ट को भी एक बार अवश्य पढें । निश्चय ही इसमें प्रस्तुत सुझाव आपका पर्याप्त मार्गदर्शन कर सकेंगे ।
5 जागरुकता बनाये रखने के लिये अपने ब्लाग पर काउन्टर मीटर लगावें ।
अपने ब्लाग पर पाठकों की आवाजाही पर नजर रखने के लिये काउन्टर मीटर अवश्य लगावें । और हर अगले महीने में पिछले महीने से अधिक पाठक आपके ब्लाग पर आ सकें । ऐसा अपना लक्ष्य अपनी नियमित सक्रियता के द्वारा बनाये रखने का प्रयास करें । काउन्टर मीटर की गैर मौजूदगी में अपने डेशबोर्ड पर " आंकडे " कालम पर नियमित अंतराल पर नजर रखते रहें ।
  
यदि आप उपरोक्त तरीकों को अमल में लाते रहेंगे । तो निश्चय ही आप अपने ब्लाग को लोकप्रियता की दौड में न सिर्फ आगे बनाये रख सकने में सफल हो सकेंगे । बल्कि इससे उपजी संतुष्टि जो आप महसूस करेंगे । उसका पूर्व अवलोकन करने हेतु आप इस लिंक को क्लिक करके ब्लाग-जगत की ये विकास-यात्रा..। लेख भी अवश्य पढें ।
जैसे व्यापार जगत में अपना माल बेचते रहने के लिये पुराने लोगों का एक मुहावरा सुनने में आता रहता है कि " दिखेगा तो बिकेगा " बडी-बडी कम्पनियां भी इसी सिद्धान्त के तहत लाखों करोडों रुपये विज्ञापन में लगाकर टीवी । रेडियो । समाचार-पत्र आदि माध्यमों में स्वयं के उत्पादों को दिखाती रहती हैं । और सफलता के पथ पर आगे की ओर बढते रहती हैं । वैसे ही आप भी इस ब्लाग-जगत में  विभिन्न एग्रीगेटर्स में । सर्च इंजिन में । समर्थक । फालोअर्स । सूची में । टिप्पणी बाक्स में और नियमित अंतराल में अपने ब्लाग्स पर नये-नये लेखों के द्वारा दिखते रहने के क्रम में बने रहकर " शून्य से शिखर तक की " अपनी इस ब्लाग-यात्रा में सफलता की ओर निरन्तर आगे बढते रह सकते हैं ।
**साभार नजरिया ब्लाग से । ऐसी उत्तम पोस्ट के लिये सुशील जी को हार्दिक धन्यवाद । आप इस पोस्ट को यहाँ और सुशील जी द्वारा लिखित अन्य सुझाव यहाँ देख सकते हैं ।

Saturday, 12 February 2011

हैप्पी ब्लागिंग..एन्ड हैप्पी ब्लागर ।

ये ब्लाग..ब्लागरों को पेश आने वाली समस्याओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है । लेकिन न तो मैं टेक्नीकल ब्लागर हूँ । और न ही कोई मुझे कंप्यूटर इंटरनेट की अधिक जानकारी है । फ़िर इस ब्लाग में ब्लागर्स की समस्याओं का समाधान कौन करेगा ? इसका जबाब है । आप लोग..। हम लोग..।
दरअसल इस ब्लाग में आपकी समस्या प्रकाशित की जायेगी । जो आप कमेंट के रूप में । ई मेल से । या इस ब्लाग से सहयोगी के रूप में जुङकर स्वयँ खुद भी पोस्ट कर सकते हो । तब इस ब्लाग जगत में मौजूद दिग्गज लोग आपकी समस्या का समाधान करेंगे । यही बात टेक्नीनल जानकारों पर लागू होती है । वे इच्छानुसार इस ब्लाग से जुङकर । अनभिग्य ब्लागरों का उचित मार्गदर्शन करते हुये परमार्थ का कार्य कर सकते हैं । या कमेंट द्वारा भी " परेशान ब्लागर बन्धु " की मदद कर सकते हैं ।
गूगल आदि इंटरनेट की दिग्गज कंपनियों का मानना है कि हिंदी ब्लागिंग बहुत पिछङी हुयी अवस्था में है । और इसे विकसित होने में अभी काफ़ी समय लगेगा । हिंदी ब्लागों पर दृष्टि डालते समय यह बात काफ़ी हद तक सही भी लगती है । अभी भी ब्लागिंग करते हुये तमाम ब्लागर ब्लागिंग की बुनियादी बातें भी ठीक से नहीं जानते ।
लेकिन एक बात में तो हिंदी ब्लागर अंग्रेजी आदि विदेशी भाषा के ब्लागरों से आगे ही हैं । वो है..दनादन पोस्ट लिखना । बल्कि इसको दे दनादन पोस्ट लिखना कहा जाय । तो अधिक उचित है ।
दूसरी बात..अपने हिंदी ब्लागों में अक्सर । वर्ड वेरीफ़िकेशन । हटा हुआ होता है । जो कि अंग्रेजी ब्लागों में
90% देखने को मिलता है । और बहुत बङा सिरदर्द होता है ।
हिंदी ब्लागर ब्लाग की साजसज्जा का भी बेहद ध्यान रखते हैं । जो कि अंग्रेजी ब्लागों में तुलनात्मक कम है । बस एक बात का अंतर मैंने अवश्य देखा । हिंदी ब्लागर्स में महिला हो या पुरुष ब्लागर..कवितायें लिखने वाले बहुत ज्यादा हैं । जो कि अंग्रेजी ब्लागों में कम से कम मुझे तो देखने को नहीं मिले ।
और इसके साथ ही..श्री गणेशाय नमः वाली इस पोस्ट को यहीं समाप्त करते हुये आपसे आग्या चाहता हूँ ।
समस्यागृस्त ब्लागर और समस्या का निदान करने वाले दोनों से ही मेरा आग्रह है कि यदि आप इस ब्लाग से जुङना चाहें । तो कमेंट में अपना ई मेल आई डी लिखें । मैं आपको उस ई मेल पर ब्लाग द्वारा इंवीटेशन भेज दूँगा । उसको एक्सेप्ट करते ही आप इस ब्लाग से लेखक के तौर पर जुङ जायेंगे । यह औपचारिकता लेखक के तौर पर जुङने के लिये आवश्यक ही होती है । आपके सुझाव शिकायत आमन्त्रित हैं । धन्यवाद ।
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Follow by Email