Sunday, 17 April 2011

आपके ब्लाग पर कुम्भ मेला जैसी भीङभाङ ?

मयंक भाई ! यार क्यों हम छोटे मोटे बाबाओं का धन्धा खराब करने पर तुले हो । आप सीक्रेट दे दनादन स्टायल में बता रहे हो । फ़िर हम बाबा लोग कौन से ग्यान के बूते रुतबा झाङेंगे । गलत बात है । भाई ।
आप तो सबको सयाना बनाने पर तुल गये हो ।

इंटरनेट पर जब भी आपको कोई खोज या जानकारी करनी होती है । तो सबसे पहले गूगल बाबाजी या किसी अन्य सर्च इंजन का ही विचार आता है ।
 सर्च इंजन से ही लोगबाग । भाईसाहब । भाभीजी । अंकल जी । आँटीजी वगैरा वगैरा आपके ब्लॉग या वेबसाईट तक जा पाते हैं ।
खोज इंजन ही वो खास साधन है । जो आपकी वेबसाइट या ब्लॉग पर नाटकीय रूप से ( कुम्भ मेला की तरह ) या बाबा रामदेव के योग शिविर की तरह.. आपकी साइट के लिए प्यारे कमेंट देने वाले । गाली देने वाले बन्धुओं की मात्रा बढ़ा सकता है ।
अगर आप डिस्कबरी इंजन में अपनी साइट और ब्लॉग को चिपका ( सबमिट कर ) दोगे । तो कोई भी भूला भटका बन्दा आपके ब्लॉग तक यूँ ( अरे भाई चुटकी बजाकर ) पहुँच सकता है ।

 आज मैं  ( हमारे मयंक भाई साहब । वही कम्प्यूटर दुनियाँ वाले ) आपको ऐसे ही कुछ साईट के लिंक दे दनादन दे रहा हु ।
जिस पर आप क्लीक करके ( मतलब माउस भाई यानी चूहे राजा से ) अपने ब्लॉग या वेबसाईट को सबमिट ( यार ! क्यों ये सीक्रेट बताकर हमारे ब्लाग के ग्राहक काटना चाहते हो ) कर सकते हैं ।
और अपने ब्लॉग या वेबसाईट को लोगों तक पंहुँचा सकते हो । ( नहीं मानते । तो क्लिक करके देख लो । मयंक जी ने इस बार बहुत तगङा अप्रेल फ़ूल बनाया है । एक भी क्लिक खुलने वाली नहीं है । )

1 - गूगल बाबा का आशीर्वाद प्राप्त करें ।

2 -बिंगों बाबा का आशीर्वाद प्राप्त करें

3 -शम्मी कपूर उर्फ़ याहू बाबा । मैं झट यमला पगला दीवाना । ओ रब्बा । डाल दे । ब्लाग । मेरी झोली में ।

4 - रेडिफ़ आँटी जी । मेरा ब्लाग भी स्वीकार करें ।.. डाल दे बच्चा ।

5 - ये पता नहीं कौन से साधु बाबा हैं । इनका पूरा मिशन ही फ़्री सेवा देता हैं । यहाँ आपके ब्लाग को आशीर्वाद देने के लिये कई बाबाजी हैं । वो भी एक बार के सबमिट में ।

साभार मयंक भाईजान के कम्प्यूटर दुनियाँ से ये मेहनत उन्हीं की है
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Follow by Email