Friday, 28 September 2012

हूँ तो मुगलानी पर रहूँगी हिन्दुआनी


ब्लागर परिचय की श्रंखला में आज " हिन्दू राष्ट्र " ब्लाग के ब्लागर - आर के शर्मा का परिचय ।
लेखक R K शर्मा द्वारा कुरआन द्वारा प्रचलित मान्यताओं की असलियत सबके सामने लाने का 1 प्रयास । ॐ नमो: नारायण: । मेरा मकसद है । लोगों के बीच इस्लाम और कुरआन के लिए ग़लतफ़हमी दूर करना । कृपया इस ब्लाग पर आने वाले सभी आगंतुको से अनुरोध । इस ब्लाग पर दिये गये सभी पोस्ट सत्य हैं । और ये अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है । पर इस ब्लाग का उद्देश्य किसी की भावनाओं को ठेस न पंहुँचा कर सत्य को उजागर करना है । अत: किसी भी प्रकार की दुर्भावना को मन में न रख कर केवल ब्लाग को पढ़ें । अगर किसी पोस्ट पर आपत्ति है । या पोस्ट के गलत होने का प्रमाण है । तो इस पेज पर आप आपत्ति व्यक्त कर सकते हैं । परन्तु बिना प्रमाण के कृपया अपना समय नष्ट न करें । और न ही सत्य को असत्य सिद्ध करने का प्रयत्न करें । मैं सभी को दिखाना चाहता हूँ कि - जो कुरआन में है । वो असलियत में क्या है ? और उसे क्या दिखा कर दुनियां और मुसलमानों

को भृमित किया जाता है । इस ब्लाग के जरिये मैं इस्लाम और कुरआन के हर 1 राज से पर्दाफाश करके उसे बेनकाब करूँगा और इनका ब्लाग है - कुरआन और मुहम्मद की नापाक असलियत । ब्लाग नाम पर क्लिक करें ।
♥♥♥♥♥♥
आज पूरी दुनियां में इस्लाम के नाम पर आतंक मचाया जा रहा है । कुछ लोग कहते हैं कि - मुसलमानों को बहकाया जाता है । उनके साथ ज़बरदस्ती होती है..आदि । तरह तरह की बातें । पर मैं दिखाऊँगा कि - क्यों 1 मुसलमान ऐसा करता है ? क्या है इस्लाम का असली मकसद ? और क्यों इस्लाम आज शैतानी मजहब बन गया है ?
♥♥♥♥♥♥
नीचे जिन किताबों के नाम शीर्षक  दिये हैं । उनके लिंक संकलित करना मेरे लिये संभव नहीं था । अतः निम्न सभी लिंको को प्राप्त करने हेतु इसी ब्लाग के इस पेज लिंक पर क्लिक करें - राजीव ।
http://hindurashtra.wordpress.com/books/
♥♥♥♥♥♥
जिहाद के प्रलोभन । सेक्स व लूट - अनवर शेख

इस्लाम अरब साम्राज्यवाद - अनवर शेख
इस्लाम ही आतंकवाद - पं महेन्द्र पाल आर्य ( पूर्व मौलवी - महबूब अली )
इस्लामिक आतंकवाद का इतिहास - लक्ष्मी शंकराचार्य
भारतीय मुसलमानों के हिन्दू पूर्वज मुसलमान कैसे बने ? पुरुषोत्तम
चौदहवी का चाँद - चमूपति एम ए - Saffron Hindurashtra ( रोहित शर्मा )
रंगीला रसूल - चमूपति एम ए  - रोहित शर्मा
हिन्दुस्तान में मदरसे - देवेन्द्र मित्तल
जिहाद और गैर मुसलमान - डा. कृष्ण वल्लभ पालीवाल
जिहादियों को जन्नत केवल कयामत बाद - डा. कृष्ण वल्लभ पालीवाल
भारतीय इतिहास का विकृतीकरण - रघुनंदन प्रसाद शर्मा
तालिबान - इस्लाम व शांति ।
मुझे लोगों से तब तक युद्ध करने का आदेश मिला है । जब तक वे यह न सत्यापित करने लगे कि - अल्लाह के अतिरिक्त कोई और उपास्य नहीं है ।

क्या गैर मुसलमानों पर इस्लाम स्वीकार करना अनिवार्य है ? शेख मुहम्मद बिन सालेह अल - उसैमीन रहिमहुल्लाह
islamhouse.com से साभार
इस्लाम कामवासना और हिंसा - अनवर शेख
कोई भी ईश्वर अपने अनुयायी बनाने हेतु कामवासना पूर्ति और हिंसा का मार्ग नहीं अपनायेगा । दैवत्व की अवधारणा के प्रति घातक हॊने के कारण यह ईश निंदा है । यह तो केवल अरब साम्राज्य बनाने के लिये मुहम्मदी योजना का अंग है ।
कुरआन की आयतों पर अदालत का निर्णय
कुरआन मजीद की पवित्र पुस्तक के प्रति आदर रखते हुए उक्त आयतों के सूक्ष्म अध्ययन से स्पष्ट होता है कि - ये आयतें बहुत हानिकारक हैं । और घृणा की शिक्षा देती हैं ।
अयोध्या विवाद का हल - डा. सुरेन्द्र
इस पुस्तक का उद्देश्य है । न्यायालय की मनमानी से भारत की विशाल जनता को छुटकारा दिलाना । और

अयोध्या में विवादित स्थल पर श्री राम मंदिर का निर्माण करना ।
दी गीता आन मैनेजमैंट - डा. मोहन खुराना
हमारी आदरणीय पुस्तक गीता जो संसार में व्यापक रूप से पढ़ी जाती है । ने जीवन के हर पहलू को छुआ है ।
सूफियों द्वारा भारत का इस्लामीकरण - पुरुषोत्तम
इस लिहाज से मैं सूफियों और पीरों को इस्लाम में भर्ती कराने वाली संस्था ही मानता हूँ । और मेरी चुनौती है कि - कोई इसके विपरीत तथ्य नहीं ला सकता है ।
इस्लाम - अरब राष्ट्रीयता का साधन - अनवर शेख
इस विचार धारा का आधार मुसलमानों के इस अँधविश्वास पर है कि - मुहम्मद उन्हें स्वर्ग दिलवा सकता है ।
मुस्लिम राजनीतिक चिंतन और आकांक्षायें - ले. ज. पुरुषोत्तम

पृथ्वी तो अल्लाह और उसके रसूल की है । इसीलिये अपनी छिनी हुई वस्तु की पुनः प्राप्ति के लिए निरंतर जिहाद करना विधि सम्मत है ।
आज इस्लाम के मसले - इरशाद मांजी
मुझे मुस्लिम होने से इनकार नहीं है । पर मैं उस यंत्र मानव की तरह नहीं बनना चाहती । जो अल्लाह के नाम पर चुपचाप चलते जाते हैं ।
इस्लाम के सैनिक - ले. ज. पुरुषोत्तम
Minorities and Social Justice: Problems & Policy Options -  B. P. Singhal
Why Muslims Destroy Hindu Temples - अनवर शेख
ISLAMISATION OF INDIA BY SUFIS - पुरुषोत्तम
इस लिहाज से मैं सूफियों और पीरों को इस्लाम में भर्ती कराने वाली संस्था ही मानता हूँ । और मेरी चुनौती है

कि - कोई इसके विपरीत तथ्य नहीं ला सकता है ।
Jihad In the Way of Allah - डा. कृष्ण वल्लभ पालीवाल  ( हिन्दू राइटर्स फोरम )
Two Faces of jihad - डा. कृष्ण वल्लभ पालीवाल ( हिन्दू राइटर्स फोरम )
The Meaning of jihad - डा. कृष्ण वल्लभ पालीवाल ( हिन्दू राइटर्स फोरम )
Jihad & Jannt in Hadis - डा. कृष्ण वल्लभ पालीवाल ( हिन्दू राइटर्स फोरम )
CristmaS – Fact or Fiction - डा. कृष्ण वल्लभ पालीवाल ( हिन्दू राइटर्स फोरम )
ISLAM THE ARAB IMPERIALISM - अनवर शेख

The Condition Of a Non Muslim In a Islamic State - Samuel Shahid
THE GLORY THAT IS HINDUTVA - B. P. Singhal
क्या हिन्दू मिट जायेंगे ? भारत की संत परम्परा । और सामाजिक समरसता ।
हिन्दू समाज में अनेक कुरीतियां रही होंगी । अथवा विद्यमान भी होंगी । परंतु साथ ही साथ उनके सुधारने के आंदोलन भी चलते ही रहे हैं । इसी प्रकार से हिन्दू समाज के भीतर छुआछूत व जाति पांति की समस्या भी है । परंतु साथ ही साथ यह भी देखने में आया है कि - भगवान बुद्ध के समय ( लगभग 2500 ) वर्ष पूर्व से ही संतो ने जन्मना जाति भेद भाव के विरुद्ध आंदोलन खड़ा किया । इन हजारों वर्षों में संतों ने छुआछूत को मिटाने के क्या प्रयत्न किए ?
गाथांयें पंजाब की भाग – 3
उसने यह कहा ही था कि - दुनिया ने 1 चमत्कार देखा । जिसकी आज भी लोग कल्पना करके दांतों तले उंगली दबा लेते हैं । बाबाजी का सिर धड़ से अलग हो चुका था । फतेह सिंह के शब्दों ने जादू का सा असर किया । उन्होंने अपने बांयें हाथ से अपने सिर को पकड़ लिया । अपने दांयें हाथ से वे अपना भारी खंडा चलाते रहे ।
हूँ तो मुगलानी हिन्दुआनी रहूंगी मैं - वचनेश त्रिपाठी
भारत के वे मुस्लिम संत । जो भारतीयता की भावनाओं से परिपूर्ण थे ।
- सभी जानकारी साभार आर के शर्मा के ब्लाग - कुरआन और मुहम्मद की नापाक असलियत.. से । क्लिक करें 
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Follow by Email